मैं तुझसे चांद तारों की नुमाइश नहीं करूंगा तुझे चाहूंगा मगर तेरी ख्वाहिश नहीं करूंगा
copy
प्यार किया था तो प्यार का अंजाम कहाँ मालूम था! वफ़ा के बदले मिलेगी बेवफाई कहाँ मालूम था! सोचा था तैर के पार कर लेंगे प्यार के दरिया को! पर बीच दरिया मिल जायेगा भंवर कहाँ मालूम था!
copy
खाली नहीं दिल हमारा थोड़ा सा दर्द भी पाला है. जहां रोशनी है तेरे हर तरफ उजाला है. फिर उम्मीद दिखाकर हमको तूने अंधेरों में क्यों डाला है.
copy