रिश्तें चाहे कितने भी खुबसूरत क्यूँ ना हो लेकिन, जब लोगों के दिल भर आते है तो अक्सर टूटकर बिखर जाते है !! -- undefined
copy
समेट कर ले जाओ.. अपने झूठे वादों के अधूरे क़िस्से.. अगली मोहब्बत में तुम्हें फिर.. इनकी ज़रूरत पड़ेगी। -- undefined
copy
समेट कर ले जाओ.. अपने झूठे वादों के अधूरे क़िस्से.. अगली मोहब्बत में तुम्हें फिर.. इनकी ज़रूरत पड़ेगी। -- undefined
copy
मोहब्बत मुक़द्दर है एक ख्वाब नहीं; ये वो अदा है जिसमे सब कामयाब नहीं; जिन्हें पनाह मिली उन्हें उँगलियों पर गिन लो; मगर जो फना हुए उनका कोई हिसाब नहीं। -- undefined
copy